MCA क्या है और MCA करने के बाद क्या करें?

0
839

आज के समय में पूरे देश में कंप्यूटर की डिमांड बहुत ही ज्यादा बढ़ चुकी है। अब लोग कंप्यूटर तो सीखते ही हैं। बल्कि लोग ऑफिस के ज्यादातर कार्य कंप्यूटर की मदद से ही करते हैं। अगर आप कंप्यूटर के क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना चाहते हैं तो आज मार्केट में बहुत सारे कोर्स मौजूद हैं। जिनमें से कुछ कोर्स online और कुछ offline किए जाते हैं।

हम अपने इस आर्टिकल में ऐसे ही एक कोर्स में बारे में बताने वाले हैं। जिसका नाम है MCA Course. इसके अलावा इस आर्टिकल में आप यह भी जानेंगे कि MCA Course क्या है?, MCA कितने साल का कोर्स होता है?, MCA Course कौन कर सकता है?,एमसीए करने के क्या फायदे हैं?

ऐसे ही काफी सारे सवाल छात्रों द्वारा इंटरनेट पर सर्च किए जाते हैं। इस आर्टिकल में हम आपको ऐसे ही कुछ सवालों का जवाब देने वाले हैं।

MCA क्या है?

MCA Kya Hai
MCA Kya Hai

MCA एक पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स है जिसमें छात्रों को एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर, वेब एप्लीकेशन, कंप्यूटर प्रोग्राम, डेटाबेस मैनेजमेंट और ऑपरेटिंग सिस्टम जैसे विषयों में प्रशिक्षित किया जाता है। इस कोर्स में छात्रों को Java, C, C++, Python, HTML, Ruby , JavaScript और PHP जैसी वेब डेवलपमेंट प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के बारे में पढ़ाया जाता है।

इस कोर्स में आपको कई प्रकार के टूल्स को और बेहतर बनाने के बारे में भी सिखाया जाता है। अगर आप कंप्यूटर या IT (Information Technology) के क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना चाहते हैं तो 4 सेमेस्टर वाला एमसीए कोर्स आपके लिए एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है। MCA Course में कई तरह की पढ़ाया जाता है, जैसे – कंप्यूटर एप्लीकेशन को बनाना, प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को अपडेट करना या फिर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को और अधिक बेहतर बनाना आदि ।

MCA Full Form in Hindi

एमसीए का फुल फॉर्म (MCA ka full form) – मास्टर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन

एमसीए कोर्स के लिए शैक्षिक योग्यता (MCA Course Eligibility in Hindi)

MCA करने के लिए BCA, BSC (PCM) या B.Sc (IT) करना अनिवार्य होता है। इसके अलावा आप कंप्यूटर से सम्बंधित डिग्री देने वाला कोई कोर्स भी कर सकते हैं। काफी सारे कॉलेजों में तो यह भी सुविधा होती है कि PCM से 12th करने के साथ-ही अगर आपने कंप्यूटर का कोई कोर्स किया हो, तब आप 50% के साथ ग्रेजुएशन करने के बाद mca कर सकते हैं।

अगर आप एक अच्छे कॉलेज से एमसीए करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको प्रवेश परीक्षा देनी होती है। लेकिन इसमें एक अच्छी रैंक लाना बहुत जरूरी होता है। इसके अलावा कुछ कॉलेज ऐसे भी हैं। जिनमें मैरिट के बेस पर प्रवेश दिया जाता है। अगर हम प्रवेश परीक्षा के विषयों की बात करें, तो इसके विषय निम्नलिखित हैं –

  • Mathematics
  • Logical Reasoning
  • Computer Awareness
  • Analytics Ability
  • English

MCA Course Details in Hindi

MCA Full Form (एमसीए फुल फॉर्म)Master of Computer Application (मास्टर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन)
MCA Course Duration (एमसीए कोर्स की अवधि)3 वर्ष
MCA Fees (एमसीए शुल्क)INR 30,000 – INR 2,00,000 (Approx.)
MCA Course Types (एमसीए कोर्स टाइप)Full Time, Online and Distance
MCA Eligibility (एमसीए पात्रता)स्नातक 50% के साथ और गणित अनिवार्य
MCA Entrance Exams (एमसीए प्रवेश परीक्षाएं)TANCET, WBJEE JECA, UPSEE, TSICET
MCA Top Colleges (एमसीए टॉप कॉलेज)दिल्ली यूनिवर्सिटी, एनआईटी त्रिची, क्राइस्ट यूनिवर्सिटी, एनआईटी वारंगल, जेएनयू
MCA Jobs (एमसीए जॉब्स)फ्रंटएंड डेवलपर्स, वेब डिजाइनिंग, नेटवर्किंग प्रोफेशनल्स, बैकएंड डेवलपर्स

एमसीए कोर्स कितने साल का होता है?

एमसीए कोर्स पूरे 3 साल का होता है जिसे 6 सेमेस्टरों में बाँटा गया है। यहाँ प्रत्येक साल 2 सेमेस्टर पढ़ाये जाते हैं। लेकिन कुछ जगाहों पर ऐसा भी देखा गया है कि सिलेबस का नया पैटर्न आने से एमसीए कोर्स को 2 साल का कर दिया गया है।

एमसीए कोर्स (MCA Course) की फीस कितनी होती है?

एमसीए कोर्स की फीस की बात की जाए तो एमसीए की फीस कॉलेज पर निर्भर करती है। अगर हम प्राइवेट कॉलेजों की बात करें तो प्राइवेट कॉलेजों में एमसीए कोर्स की फीस लगभग 30,000 रु से 2,40,000 रु तक ही होती है। वहीं गवर्नमेंट कॉलेजों में लगभग 10,000 रु से 50,000 रु तक ही फीस ली जाती है।

एमसीए कोर्स कैसे करें?

अगर आप एमसीए करना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे पहले eligible (योग्य) होना बहुत ही जरूरी है। अगर आप एमसीए के लिए eligible हैं तो आप किसी भी एमसीए कॉलेज या यूनिवर्सिटी में एडमिशन ले सकते हैं। लेकिन इस बात का ध्यान भी जरूर रखें कि वह यूनिवर्सिटी या कॉलेज AICTE और UGC से मान्यता प्राप्त जरूर होना चाहिए।

आप हमेशा मान्यता प्राप्त कॉलेज से ही एमसीए करने की कोशिश करें। अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपको जॉब पाने के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए पहले ही आप उस कॉलेज को अच्छे से जांच लें।

एमसीए कोर्स बिना प्रवेश परीक्षा (Entrance Exam) के कैसे करें?

आपने देखा होगा कि काफी कॉलेजों में लोग एमसीए कोर्स करने के लिए without entrance exam के भी एडमिशन लेते हैं। इस तरह के डायरेक्ट एडमिशन को मैनेजमेंट कोटा के बेस पर दिया जाता है। वह इसलिए होता है क्योंकि आप एंट्रेंस एग्जाम दिए बिना भी ज्यादा फीस देकर एडमिशन ले सकते हैं।

एमसीए कोर्स के बाद सैलरी (Salary after MCA Course)

एमसीए करने के बाद सैलरी उम्मीदवार के अनुभव पर निर्भर करती है। यही कारण है कि एक फ्रेशर से ज्यादा सैलरी एक अनुभवी उम्मीदवार को ही दी जाती है।

एमसीए फ्रेशर कैंडिडेट को लगभग 18,000 रु से 30,000 रु तक ही सैलरी दी जाती है। एमसीए की पढ़ाई पूरी करने के बाद एक फ्रेशर का किसी अच्छी बड़ी कंपनी जैसे – गूगल, अमेज़न, आईबीएम, इनफ़ोसिस आदि में ही यह सैलरी पैकेज दिया जाता है। इसके अलावा आप खुद का बिज़नेस भी चला सकते हैं।

MCA Course Admission Process in Hindi

अगर आप एमसीए कोर्स में एडमिशन लेना चाहते हैं तो एमसीए कोर्स में एडमिशन सिर्फ दो ही तरीकों से लिया जा सकता है। जो निम्न प्रकार हैं –

  • Entrance Exam
  • Direct Admission (Without Entrance Exam)

एमसीए कोर्स करने के फायदे

एमसीए कोर्स करने के काफी सारे फायदे हैं। एमसीए करने बाद आप आईटी कंपनियों में कई तरह की जॉब कर सकते हैं, जैसे – Software Developer, System Programmer, System Developers आदि। एमसीए के बाद आप इनमें से कोई जॉब करके अपना कॅरियर बना सकते हैं। एमडीए करके आप अपनी खुदकी एक Software या IT कंपनी भी खोल सकते हैं। इसके अलावा किसी अच्छे कॉलेज में टीचिंग करके भी आप अपना कॅरियर बना सकते हैं।

MCA Course Job Opportunities

एमसीए करने के बाद कॅरियर की सम्भावनाएँ काफी अधिक बढ़ जाती हैं। क्योंकि एमसीए एक कंप्यूटर से सम्बंधित कोर्स है और वैसे भी आज के समय में कंप्यूटर का चलन बहुत अधिक बढ़ चुका है। इसीलिए इस फील्ड में कॅरियर बनाना काफी आसान होता है। एमसीए के तीन दो साल पूरे करने के बाद आपको specialization के हिसाब से ही अलग-अलग जॉब दी जाती है।

एमसीए के बाद किस तरह की कंपनियों में अवसर मिलते हैं –

  • सॉफ्टवेयर कम्पनीज
  • नेटवर्किंग कम्पनीज
  • डेटाबेस मैनेजमेंट
  • गवर्नमेंट एजेंसीज
  • बैंकिंग सेक्टर
  • टेक्निकल सपोर्ट इन वेरियस कम्पनीज
  • सिक्योरिटीज एंड सर्विलांस कम्पनीज
  • स्कूल एंड कॉलेजेस

एमसीए के बाद निम्न पदों पर नौकरी दी जाती है –

  • सॉफ्टवेयर इंजीनियर
  • वेब डिज़ाइनर
  • वेब डेवलपर
  • डेटाबेस मैनेजर
  • प्रोग्राम मैनेजर
  • इंटरनेट एक्सपर्ट इंटरनेट स्कॉलर
  • सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन आर्किटेक्ट
  • डेटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर

MCA Course Top Colleges in India

आज इंडिया में ऐसे बहुत सारे सरकारी और प्राइवेट कॉलेज मौजूद हैं, जहाँ पर एमसीए के कोर्स को कराया जाता है। देखा जाए तो दोनों ही तरह के कॉलेजों में सिर्फ फीस का ही अंतर देखने को मिलता है।

इंडिया के ऐसे ही कुछ top colleges की लिस्ट नीचे दी गई है, जहाँ आप एडमिशन लेकर आप अपना एमसीए कोर्स आसानी से कर सकते हैं।

  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (IIT), रुड़की
  • द ऑक्सफ़ोर्ड कॉलेज ऑफ साइंस (TOCS), बैंगलोर
  • जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU), नई दिल्ली
  • गोविन्द बल्लभ पंत यूनिवर्सिटी ऑफ़ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी, पंतनगर
  • मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज (MCC), चेन्नई
  • बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी (BIT MESRA), राँची
  • पंजाब एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी (PAU), लुधियाना
  • देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी, इंदौर
  • महर्षि दयानन्द यूनिवर्सिटी (MDU), रोहतक
  • केजे सोमैया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट स्टडीज एंड रिसर्च (SIMSR), मुंबई

MCA Course FAQ

एमसीए करने से कौन सी जॉब मिलती है?

सॉफ्टवेयर इंजीनियर, वेब डिज़ाइनर, वेब डेवलपर, डेटाबेस मैनेजर, प्रोग्राम मैनेजर, इंटरनेट एक्सपर्ट इंटरनेट स्कॉलर, सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन आर्किटेक्ट, डेटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर

एमसीए करने में कितना खर्च आता है?

एमसीए कोर्स करने में लगभग 30 हजार से 2 लाख रूपए तक आता है।

MCA करने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?

एमसीए कोर्स करने के लिए स्नातक में 50% के साथ और गणित विषय होना अनिवार्य है।

एमसीए 2 साल है या 3 साल?

एमसीए कोर्स 3 साल का होता है।