WordPress को Blogging के लिए Best क्यों माना जाता है?

0
1423

हम जब भी इंटरनेट को इस्तेमाल करते हैं तो हमें WordPress के बारे में काफी कुछ सुनने को मिलता है। WordPress को एक प्लेटफार्म के तौर पर Blogging के लिए इस्तेमाल में लिया जाता है। आज के समय में Internet पर काफी सारे Blogging Platform मौजूद हैं।

जब भी Blogging Platform चुनने की बात आती है तो लोग सोच में पड़ जाते हैं क्योंकि आपको अच्छे Tools और अच्छे Features तो सिर्फ एक Best Blogging Platform पर ही मिल सकते हैं।

WordPress Vs Blogger
WordPress Vs Blogger

अगर आपने Best Blogging Platform का चुनाव नहीं किया तो इससे आप अपने Blogging Carrier को एक अच्छे लेवल तक नहीं ले जा सकते। 

वैसे तो काफी सारी Blogging Platform इंटरनेट पर मौजूद हैं।  लेकिन सब से ज्यादा WordPress और Blogspot को ही इस्तेमाल में लिया जाता है।  यह दोनों ही Blogging के लिए सबसे अच्छे प्लेटफार्म माने जाते हैं। 

ज्यादातर Bloggers शुरूआती दिनों में अपने Blogging करियर की शुरुआत Blogspot के ब्लॉग से ही करते हैं। क्योंकि Blogspot को खासतौर पर नए Bloggers के लिए ही तैयार किया गया है। Blogspot और WordPress के बीच काफी अंतर देखने को मिलता है।

क्योंकि इन दोनों में ही जो सुविधाएं दी गयी हैं उनमें काफी अंतर है। इस आर्टिकल की मदद से हम आपको यह बताने की कोशिश करेंगे कि आप एक Best Blogging Platform को कैसे चुनें।

Best Blogging Platform का चुनाव कैसे करें ? Blogspot Vs WordPress

सबसे पहले तो हम ये समझ लेते हैं कि हमें दोनों में ही Custom Domain देखने को नहीं मिलता है।  हम आपको बता दें कि wordpress में आपको सिर्फ custom domain add करने का ही ऑप्शन मिलता है।

लेकिन वहीँ Blogspot में देखा जाये तो आपको subdomain और custom domain दोनों का ही ऑप्शन देखने को मिलता है।

Subdomain का यह मतलब होता है कि हमें एक domain के नाम से पहले एक और शब्द जोड़कर जो मिलता है उसे ही subdomain कहा जाता है। 

इसके साथ हम इसे एक custom domain को भी जोड़ कर सकते हैं, चाहे वह कहीं से भी खरीदा गया हो। शुरूआती दौर में तो आपको Blogspot का ही इस्तेमाल करना चाहिए। लेकिन कुछ समय के बाद आपको wordpress पर शिफ्ट होना ही पड़ेगा।

एक सबसे बड़ा कारण यह भी है कि wordpress में आपको जितनी सुविधाएं दी जाती हैं। वह सभी आपको Blogspot में नहीं मिलते हैं। आप दोनों में से किसी भी प्लेटफार्म का इस्तेमाल करें।

लेकिन कुछ समय बाद आपको custom domain पर ही जाना होगा। क्योंकि subdomain में कुछ लिमिटेशन होने के कारण आप उसमें ज्यादा कुछ नहीं कर सकते।

आप अगर blogging के क्षेत्र में कुछ करना चाहते हैं तो कभी न कभी आपको custom domain का इस्तेमाल करना ही पड़ेगा।

ब्लागस्पाट को simple blogging platform के तौर पर मन जाता है। क्योंकि इसमें कुछ कम ही फीचर देखने को मिलते हैं। वहीं जब wordpress की बात आती है तो इसे एक top level dynamic blogging प्लेटफार्म के रूप में देखा जाता है।

इसके साथ ही वर्डप्रेस में bloggers को पूरी सुविधाएं भी मिलती हैं।

इस्तेमाल में आसान

Blogspot को हम काफी सरलता से इस्तेमाल में ले सकते हैं। हमारे लिए Twitter और Facebook पर अकाउंट बनाना जितना आसान है।  उतना ही आसान से हम ब्लागस्पाट को भी इस्तेमाल कर सकते हैं। 

WordPress में आपको blogspot के मुकाबले इतनी सरलता देखने को नहीं मिलती। Blogspot में आप एक ब्लॉग क्रिएट करने के बाद तुरंत ही आप उस पर आर्टिकल लिखने की शुरुआत कर सकते हैं।

लेकिन wordpress में आपको Theme के साथ-साथ plugins को इनस्टॉल करके सेटअप करना होता है। WordPress में इन सभी प्रोसेसेज में काफी समय भी लगता है।

Blogspot के मुकाबले wordpress को थोड़ा कठिन माना जाता है।  लेकिन सुविधाओं की जब बात आती है तो वर्डप्रेस का सबसे पहले जिक्र होता है।

दोनों में सुविधाएँ

फीचर्स के मामले में ब्लागस्पाट में मुकाबले वर्डप्रेस को ज्यादा बेहतर माना जाता है। क्योंकि वर्डप्रेस में हम हर एक चीज़ को अपने हिसाब से कस्टमाइज कर सकते हैं और अपने हिसाब से डिज़ाइन कर सकते हैं।

वहीँ ब्लागस्पाट के ब्लॉग में हमें इतनी सारी सुविधाएं देखने को मिलती हैं। वर्डप्रेस मे बहुत सारे plugins available हैं जिससे कि आप अपनी blogging को आसान बना सकते हैं।

SEO में बेहतर

WordPress में आप आर्टिकल का SEO काफी अच्छी तरह से कर सकते हैं और अपने आर्टिकल को आप काफी ज्यादा SEO friendly बना सकते हैं। Seo करने के लिए wordpress में काफी अच्छे plugin मौजूद हैं।

लेकिन Blogspot blog में आपको Seo करने के ज्यादा ऑप्शन नहीं मिल सकते हैं।

Performance

परफॉरमेंस में मामले में Blogspot को ज्यादा बेहतर माना जाता है। Blogspot में स्पीड डाउन होने के चान्सेस भी काफी कम होते हैं। लेकिन wordpress में स्पीड का काफी ज्यादा ध्यान रखना पड़ता हैं।  WordPress में स्पीड को लेकर काफी ज्यादा दिक्कतें आती रहती हैं।